ये लड़की करके आई नासा से इंटर्नशिप , जानिये पूरी प्रेरणादायक कहानी !!

परिश्रम ये एक शब्द ना होकर बल्कि कई ज्यादा है , परिश्रम करके व्यक्ति कही का कही पहुँच जाता है . इतिहास गवाह है की जो लोग परिश्रम करते है वो ही जिदंगी में सफल हो पाते है . ऐसा ही मामला अभी हाल ही में सामने आया है . किसी ने सच ही कहा है अगरकिसी चीज़ को ठान लो तो पूरी कायनात उससे मिलाने में लग जाती है . तो आइये जानते है उस लड़की के बारे में जिसने नासा से खुदकी इंटर्नशिप पूरी करी है .

इस लड़की की उम्र महज सताईस वर्ष है जबकि ये एक किसान की बेटी है . इस लड़की का नाम आश्ना है . आश्ना ने अपनी पढाई गाँव के ही एक सरकारी स्कूल से करी . हमारी हमेशा से मनोवृति होती है की गाँव में रहने वाला व्यक्ति शहर में रहने वालो से कम इंटेलीजेंट होता है लेकिन इसी बात को आश्ना ने गलत ठहराया है . अब्दुल कलाम को खुदका आइडियल मानने वाली इस बच्ची में कुछ तो अनोखी बात है जो इसको औरो से अलग बनाती है . आश्ना का कहना है की उन्होंने एक बार अब्दुल कलाम का भाषण सुना था उसके बाद आश्ना में बहुत उम्मंग आ गयी और कुछ करने की इच्छा उसके मन में आ गयी जिस वजह से वो आज यंगेस्ट रिसर्च स्कॉलर है . आश्ना शुरू से जानती है की कामयाबी पाने के लिए बहुत प्रयास करने पड़ते है . आश्ना ने खुदकी पढाई पूरी करी उसके बाद फिजिक्स में रूचि होने के कारण उसने फिजिक्स में ही ग्रेजुएशन करी और फिर रिसर्च करने में जुट गयी . अब आपके मन में आ रहा होगा की कैसे आश्ना को नासा में जगह मिल गयी उसका जवाब भी है आइये जानते है . आश्ना बताती है की उन्हें आठवी तक तो कुछ भी नही पता था जैसे की क्या होता है अन्तरिक्ष और भी बहुत कुछ . लेकिन बादमे इसमें रूचि आई और उसके बारे में मैंने अध्यन किया और वाकई नासा में इंटर्नशिप मिलना बहुत ही गर्व की बात है . आश्ना ने खुदकी इंटर्नशिप पूरी कर ली है नासा से . आश्ना विशवास रखते हुए कहती है की उम्मीद है की मैं आने वाले समय में इसरो में काम करूंगी और ये मेरा सपना भी है .