भारतीय वायु सेना से जुड़े ये अनोखे तथ्य जानकर हैरान रह जायेंगे आप !!

दोस्तों हम सभ भारतीय सेना और वायु सेना में बहुत दिलचस्पी रखते है आखिर तभी तो हम ये आर्टिकल पढ़ रहे है वास्तव में इन लोगो के नाम लेते ही शरीर में एक अलग ही उमंग आ जाती है ऐसा लगता है की देश के लिए हम भी कुछ कर जाए लेकिन अफ़सोस कई बार हमें मौका नही लगता . लेकिन आज हम हमारे इस आर्टिकल से आपके लिए कुछ ऐसे तथ्य लाये है वायु सेना से रिलेटेड जिनको जानकर आप हैरान रह जायेंगे . तो दोस्तों देर किस बात की चलिए शुरू करते है .

आपको जानकर हैरानी होगी की हमारी वायु सेना का हेड ऑफिस हमारी राजधानी दिल्ली में है . यानी नई दिल्ली में . थॉमस वॉकर इल्म हर्स्ट पहले कमांडो थे लेकिन इनका कार्यकाल भारत के ही आजादी के दिन खत्म हुआ था यानी पन्द्रह अगस्त तक . सबसे रोचक बात तो ये है की हमारे देश की वायु सेना वर्ल्ड की सबसे पावरफुल सेनाओ में से एक है जी हाँ आपने सही पढ़ा सबसे पावरफुल . भारत के जो बदर औधे पर होते है जैसे की राष्ट्रपति भी वायु सेना में काम करते है . भारत के वायु सेना के पहले भारतीय अध्यक्ष भारतीय मुख़र्जी थे , आपको जानकर हैरानी होगी की बाईस हज़ार फीट के उपर भी एयर बसे होते है , भारत की वायु सेना का पहला फॉरेन एयर बसे कजाकिस्तान में है , भारत के वायु सेना में हर कोई एंट्री नही ले सकता यानी उसका हर तरह से फीट होना जरूरो होता है और यहाँ पर रिजर्वेशन बेस पर एडमिशन नही मिलता . १९९० में महिलाये भी वायु सेना में आ गयी थी जिसके उपर काफी बवाल भी हुआ था . भारतीय वायु सेना की सबसे बड़ी उपाधि मार्शेल को हासिल करना रही है , अर्जन सिंह एक मात्र ऐसे वायु सेना के सैनिक है जिन्हें बड़ा पुरस्कार मिला है राष्ट्रपति की ओर से . ऑपरेशन राहत जो की भारतीय बायु सेना ने चलाया था अब तक का सबसे बड़ा ऑपरेशन रहा है .