जानिये नोबेल पुरस्कार से जुड़े कुछ रोमांचक तथ्य !!

नोबेल पुरस्कार के बारे में तो हम सबने ही सुना है आखिर ये सम्मानीय लोगो को ही जो मिलता है . इसको पाने के पाद तो हर कोई गर्व महसूस करता है लेकिन ये हर किसी को नही मिलता और यही एक मात्र कारण है की ये बहुत अनोखा है . अल्फ्रेड नोबेल की याद में ये सम्मान दिया जाता है जिन्होंने साइंस ,में बहुत योगदान दिया है लेकिन साइंस ने ही उन्हें वापिस खुदके पास बुला लिया था क्यों की एक बम की टेस्टिंग के दौरान अल्फ्रेड की मौत हो गयी थी . लेकिन आपको आज एक हैरानी की बात बताता हूँ नोबेल प्राइस सिर्फ ४ जनों को दो बार मिला है जी हाँ जहाँ लोगों को एक बार नही मिलता वही कई लोगो को २ बार मिला है आखिर उन्होंने बहुत बड़ा योगदान जो दिया था . आज हम आपको नोबेल प्राइस से जुड़े कुछ फैक्ट्स बताएँगे जो की आपको अवश्य ही अच्छे लगेंगे तो चलिए शुरू करते है .

सबसे पहले नंबर पर आता है की १९०३ में एक पति पत्नी को नोबेल दिया गया था वो भी फिजिक्स में अहम योग्दान हेतु .
दुसरे नंबर पर आता है की एक पिता पुत्र को भी एक साथ ये सम्मान दिया गया था .
तीसरे नंबर पर आता है की १४ वर्ष की आयु में बी भी एक व्यक्ति ने नोबेल पुरस्कार प्राप्त किया था जो की बहुत बड़ी बात है और वो दुनिया के सबसे कम उम्र वाले व्यक्ति बन गये जिन्हें नोबेल हासिल था .
चौथे पे आता है की भारत के रविन्द्र नाथ टैगोर को भी नोबेल प्राइस से नवाजा गया था जो की देश के लिए बहुत गर्व की बात है .